What is Positive Pay System for Cheque Truncation System | Positive Pay System, जानिए क्या है ये और कैसे काम करता है

What is Positive Pay System for Cheque Truncation System | Positive Pay System, जानिए क्या है ये और कैसे काम करता है
 Informational        1 month ago         BlogzBite Team       0       148

क्या है Positive Pay System


Positive Pay System: 1 सितंबर 2021 से चेक के इस्तेमाल को लेकर पॉजिटिव पे सिस्टम लागू हो चुका है. Positive Pay System ₹50,000 से ज्यादा वैल्यू के चेक पर लागू है. भारतीय रिजर्व बैंक ये सिस्टम चेक पेमेंट से जुड़े फ्रॉड को रोकने के लिए लेकर आया है. लेकिन क्या है ये सिस्टम और कैसे काम करता है.


चेक से भुगतान का पूरा सिस्टम कैसे काम करता है

Positive Pay System को समझने से पहले चेक से भुगतान का पूरा सिस्टम काम कैसे करता है. मान लीजिए मेरा अकाउंट SBI में है और आपका ICICI बैंक में है. मैंने आपको किसी काम के पूरा होने के बाद उसका पेमेंट करने के लिए 2 लाख रुपये का चेक दिया.

आपने ये चेक अपने बैंक ICICI बैंक को दिया. ICICI बैंक ये चेक CTS (Cheque Truncation System) के जरिए मेरे बैंक यानी SBI को दिखाएगा. SBI उस चेक में अमाउंट की राशि आपके ICICI बैंक को दे देगा, और आपको पेमेंट मिल जाएगी.


अब से नए Positive Pay System मे यह होगा

अब यहां पर फ्रॉड की गुंजाइश ये है कि मान लीजिए मैंने जो 1 लाख का चेक आपको दिया आपने किसी तरह से उसमें घालमेल करके 10 लाख का चेक बना दिया तो मेरे लिए मुश्किल खड़ी हो जाएगी. नये Positive Pay System सिस्टम में अब जब मैं कोई भी चेक किसी को दूंगा तो मुझे आपको चेक देने के साथ ही अपने बैंक (इस केस में SBI) को भी इस चेक की पूरी डिटेल देनी होगी. जैसे चेक की डेट, बेनेफिशियरी का नाम, अकाउंट नंबर, कुल अमाउंट और अन्य जरूरी जानकारी बैंक को देनी होगी.

जब आप मेरे दिए हुए चेक को अपने बैंक (ICICI Bank) को देंगे तो ये मेरे बैंक यानी SBI को CTS के जरिए भेजेगा. SBI इस चेक की जानकारी मेरे द्वारा भेजी गई डिटेल से मैच कराएगा. अगर डिटेल मैच कर गई तो चेक को क्लियर कर देगा, नहीं तो चेक रिजेक्ट हो जाएगा.


बैंक को चेक के बारे में कैसे बताएं

किसी भी चेक की जानकारी अपने बैंक को कैसे बताएं? तो इसके लिए आप मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं. अगर मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल नहीं करते हैं, तो आप बैंक की वेबसाइट या SMS के जरिए भी अपने बैंक की इसकी जानकारी दे सकते हैं.


किन बैंकों में लागू

RBI ने 1 जनवरी, 2021 से Positive Pay System लागू कर दिया था. बैंक धीरे-धीरे कई चरणों में इसे लागू कर रहे हैं. 1 सितंबर, 2021 से Axis Bank इस सिस्टम को अनिवार्य कर चुका है. भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक जैसे प्रमुख बैंकों ने पहले ही इसे अपने यहां लागू कर दिया है.


RBI Notification

What is Positive Pay System for Cheque Truncation System

  1. The concept of Positive Pay involves a process of reconfirming key details of large value cheques. Under this process, the issuer of the cheque submits electronically, through channels like SMS, mobile app, internet banking, ATM, etc., certain minimum details of that cheque (like date, name of the beneficiary / payee, amount, etc.) to the drawee bank, details of which are cross checked with the presented cheque by CTS. Any discrepancy is flagged by CTS to the drawee bank and presenting bank, who would take redressal measures.
  2. National Payments Corporation of India (NPCI) shall develop the facility of Positive Pay in CTS and make it available to participant banks. Banks, in turn, shall enable it for all account holders issuing cheques for amounts of ₹50,000 and above. While availing of this facility is at the discretion of the account holder, banks may consider making it mandatory in case of cheques for amounts of ₹5,00,000 and above.
  3. Only those cheques which are compliant with above instructions will be accepted under dispute resolution mechanism at the CTS grids. Member banks may implement similar arrangements for cheques cleared / collected outside CTS as well.
  4. Banks are advised to create adequate awareness among their customers on features of Positive Pay System through SMS alerts, display in branches, ATMs as well as through their web-site and internet banking.
  5. Positive Pay System shall be implemented from January 01, 2021.
  6. This directive is issued under Section 10 (2) read with Section 18 of Payment and Settlement Systems Act, 2007 (Act 51 of 2007).
BlogzBite Team

About the Author

BlogzBite Team

Blogzbite has more than 50 experienced and budding content creators and bloggers under its umbrella and they work with a same mission to provide credible, correct and concise knowledge to the visitors.

Post a comment: